Search Any Story

Showing posts with label Knowledge. Show all posts
Showing posts with label Knowledge. Show all posts

कबीर दास जी के दोहे! | Kabir Das Dohe #8

दोहा 1 - 
जिन खोजा तिन पाइया, गहरे पानी पैठ।
मैं बपुरा बूडन डरा, रहा किनारे बैठ।।

कबीर कहना चाहते हैं - 
जो प्रयत्न करते हैं, वे कुछ न कुछ वैसे ही पा ही लेते हैं जैसे कोई मेहनत करने वाला गोताखोर गहरे पानी में जाता है और कुछ ले कर आता है। लेकिन कुछ बेचारे लोग ऐसे भी होते हैं जो डूबने के भय से किनारे पर ही बैठे रह जाते हैं और कुछ नहीं पाते।

कबीर दास जी के दोहे! | Kabir Das Dohe #8 | www.KWStoryTime.com

बताओ तो जाने? | Hindi Riddle #14

1. खाने के लिए मुझे,
लोग हैं खरीदते,
पर कभी भी वह,
मुझे खा नहीं पाते,
बताओ क्या हूं मैं?

KWStoryTime_HindiRiddles

English Quote #32

There is only one Success! To be able to Spend your Life in your Own Way!!
- Christopher Morley

English Inspirational Quote

कबीर दास जी के दोहे! | Kabir Das Dohe #7

दोहा 1 - 
बोली एक अनमोल है, जो कोई बोलै जानि।
हिये तराजू तौलि के, तब मुख बाहर आनि।।

कबीर कहना चाहते हैं - 
यदि कोई सही तरीके से बोलना जानता है तो उसे पता है कि वाणी एक अमूल्य रत्न है। इसलिए वह ह्रदय के तराजू में तोलकर ही उसे मुंह से बाहर आने देता है।

KWStoryTime_ Kabir Das Dohe

English Quote #31

Change happens when the Pain of Staying the Same is greater than the Pain of Change!
- Tony Robbins


बताओ तो जाने? | Hindi Riddle #13

1. लाल डब्बे में है,
पीले पीले खाने,
उन खानों में है,
मोती जैसे लाल दाने,
बताओ क्या हूं मैं?

Five Quotes from Bhagavad Gita | Eng #3

1. Set thy heart upon thy Work but never its Reward!

Five Quotes from Bhagavad Gita | Eng #3

कबीर दास जी के दोहे! | Kabir Das Dohe #6

दोहा 1 - 
जो उग्या सो अन्तबै, फूल्या सो कुमलाहीं।
जो चिनिया सो ढही पड़े, जो आया सो जाहीं।।

कबीर कहना चाहते हैं - 
इस संसार का नियम यही है कि जो उदय हुआ है,वह अस्त होगा। जो विकसित हुआ है वह मुरझा जाएगा। जो चिना गया है वह गिर पड़ेगा और जो आया है वह जाएगा।

कबीर दास जी के दोहे! | Kabir Das Dohe #6 | www.KWStoryTime.com

श्रीमद्भागवत गीता के पांच उपदेश! | श्रीमद्भागवत गीता #3

1. आज जो कुछ आपका है, पहले किसी और का था और भविष्य में किसी और का हो जाएगा। परिवर्तन ही संसार का नियम है।


बताओ तो जाने? | Hindi Riddle #12

1. मेरा शरीर पतला है,
नन्ही सी मेरी आंख है,
कोई भी फर्क मुझे ना पड़ता,
ना कभी मैं चिल्लाता हूं,
बताओ क्या हूं मैं?

कबीर दास जी के दोहे! | Kabir Das Dohe #5

दोहा 1 - 
एकही बार परखिये ना वा बारम्बार।
बालू तो हू किरकिरी जो छानै सौ बार॥

कबीर कहना चाहते हैं - 
किसी व्यक्ति को बस एक बार में ही अच्छे से परख लो तो उसे बार-बार परखने की आवश्यकता न होगी। रेत को अगर सौ बार भी छाना जाए तो भी उसकी किरकिराहट दूर न होगी। जैसे कि दुर्जन को बार-बार भी परखो तब भी वह दुष्टता से वैसे ही भरे हुए मिलेंगे जैसे वह थे, किन्तु सही व्यक्ति की परख एक बार में ही हो जाती है।

कबीर दास जी के दोहे! | Kabir Das Dohe #5 | www.KWStoryTime.com

Five Quotes from Bhagavad Gita | Eng #2

1. No one who does good work will ever come to a bad end, either here or in the world to come!

FiveQuotesBhagavadGita_kwstorytime

कबीर दास जी के दोहे! | Kabir Das Dohe #4

दोहा 1 - 
कबीर यह तनु जात है सकै तो लेहू बहोरि।
नंगे हाथूं ते गए जिनके लाख करोडि॥

कबीर कहना चाहते हैं - 
यह शरीर नष्ट होने वाला है, तो हो सके तो अब भी संभल जाओ, इसे संभाल लो। जिनके पास लाखों करोड़ों की संपत्ति थी, वे भी यहाँ से खाली हाथ ही गए हैं। इसलिए जीते-जी धन संपत्ति जोड़ने में ही न लगे रहो, कुछ सार्थक भी कर लो। जीवन को कोई दिशा दे लो, कुछ भले का काम कर लो।

कबीर दास जी के दोहे! | Kabir Das Dohe #4 | www.KWStoryTime.com

श्रीमद्भागवत गीता के पांच उपदेश! | श्रीमद्भागवत गीता #2

1. जो हुआ वह अच्छे के लिए हुआ है, जो हो रहा है वह भी अच्छे के लिए ही हो रहा है, और जो होगा वह भी अच्छे के लिए ही होगा।

 श्रीमद्भागवत गीता_kwstorytime

बताओ तो जाने? | Hindi Riddle #11

1. बोर्ड गेम खेलते समय,
तुम्हारे लिए में दोस्त हूं,
आंखों वाला मैं हूं एक दोस्त,
हिलाने फेंकने पर लुढ़कता हूं,
बताओ क्या हूं मैं?

कबीर दास जी के दोहे! | Kabir Das Dohe #3


दोहा 1 - 
माला फेरत जुग भया, फिरा न मन का फेर।
कर का मनका डार दे, मन का मनका फेर।।

कबीर कहना चाहते हैं - 
कोई व्यक्ति लम्बे समय तक हाथ में लेकर मोती की माला तो घुमाता है, पर उसके मन का भाव नहीं बदलता, उसके मन की हलचल शांत नहीं होती। कबीर की ऐसे व्यक्ति को सलाह है कि हाथ की इस माला को फेरना छोड़ कर मन के मोतियों को बदलो,अपने मन को साफ करो ।

कबीर दास जी के दोहे! | Kabir Das Dohe #3 | www.KWStoryTime.com

English Quote #28

The Secret of getting Ahead is getting Started!!
- Mark Twain

MarkTwainInspirationalQuotes_kwstorytime

Five Small and Powerful Quotes from Bhagavad Gita | Eng #1

1. Who does not control the mind, For them, he acts like the Enemy!

BhagavadGitaPowerfulQuotes_kwstorytime

Hindi Quote #28

पहले वो आप पर ध्यान नहीं देंगे, फिर वो आप पर हँसेंगे, फिर वो आप से लड़ेंगे, और तब आप जीत जायेंगे।
- महात्मा गांधी

MahatmaGandhiInspirationalSong_KWStoryTime

कबीर दास जी के दोहे! | Kabir Das Dohe #2

दोहा 1 - 
संत ना छाडै संतई, जो कोटिक मिले असंत।
चन्दन भुवंगा बैठिया, तऊ सीतलता न तजंत।।

कबीर कहना चाहते हैं - 
जो लोग सज्जन होते हैं उनसे चाहे कितने भी दुष्ट लोग मिलें, फिर भी सज्जन पुरुष अपने भले स्वभाव को नहीं छोड़ता। जैसे कि चंदन के पेड़ से सांप लिपटे रहते हैं, पर फिर भी वह अपनी शीतलता नहीं छोड़ता।

कबीर दास जी के दोहे! | Kabir Das Dohe #2 | www.KWStoryTime.com