Search Any Story

Showing posts with label AkbarBirbalHindi. Show all posts
Showing posts with label AkbarBirbalHindi. Show all posts

कौओं की गिनती | अकबर-बीरबल

एक बार पड़ोसी राज्य से एक बहुत प्रसिद्ध विद्वान बादशाह अकबर के दरबार में घूमने को आया। वह अकबर के सामने आकर अभिवादन के लिए झुका और कहा, "जहांपनाह! मैंने बीरबल की बुद्धि के बारे में बहुत सुना है। दूरदराज क्षेत्रों के लोग अक्सर इनकी बुद्धि की बहुत प्रशंसा करते हैं। महाराज अगर आप की आज्ञा हो तो मैं उनकी प्रतिभा की परीक्षा लेना चाहता हूं।"

अशुभ चेहरा | अकबर-बीरबल

बहुत समय पहले, बादशाह अकबर के राज्य में यूसुफ नामक एक युवक रहता था। उसका कोई दोस्त नहीं था, सभी लोग उससे नफरत करते थे। सभी उसका मजाक उड़ाते थे और जब वह सड़क पर चलता तो सब उस पर पत्थर फेंकते थे। यूसुफ का जीवन दयनीय था, सभी सोचते थे कि वह बहुत ही बदनसीब है। लोग तो यहां तक कहते थे कि यूसुफ के चेहरे पर एक नजर डालने से, देखने वाले व्यक्ति पर भी बदनसीबी आ सकती है।

बीरबल की जन्नत की यात्रा | अकबर-बीरबल

बीरबल की प्रशंसा से जलकर कुछ दरबारियों ने एक योजना बनायी कि कैसे वह बीरबल को अपने रास्ते से निकाल दें। उन्होंने अपनी योजना में राजा अकबर के हज्जाम को भी शामिल कर लिया।

akbarbirbalstories_kwstorytime

पूनम या दूज का चाँद | अकबर-बीरबल

बीरबल बहुत चतुर, बुद्धिमान और हाजिर जवाब थे, उनकी तारीफे दूर देशों तक फैली हुई थी। इरान के बादशाह ने जब उनकी बुद्धिमानी की तारीफ सुनी तो उसने राजा के पास संदेश भिजवाया की वह बीरबल को कुछ दिन के लिए मेरे दरबार में भेजने की कृपा करे। राजा ने बहुत कीमती वस्त्र आभूषणों की भेंट के साथ बीरबल और उनके सभा के कुछ अन्य दरबारियों को इरान के लिए रवाना किया।

AkbarBirbalHindiStories_BestShortStories

लेन देन प्रक्रिया | अकबर-बीरबल

एक बार की बात है। बादशाह अकबर अपने दरबारियों के साथ सभा में बैठे हुए थे। आज कोई भी फरियादी नहीं था, इसलिए उन्होंने सोचा कि क्यों ना मैं दरबारियों से कोई प्रश्न पूछूं।

बादशाह अकबर ने दरबारियों से पूछा, "मैंने हमेशा देखा है कि जब भी हम किसी को कुछ देते हैं तो, देने वाले का हाथ, हमेशा लेने वाले हाथ के ऊपर होता है।"

AkbarBirbalShortHindiStories_kwstorytime

आंखों वाले अंधे | अकबर-बीरबल

एक बार राजा अकबर ने अपनी राज्य सभा के सभी दरबारियों से पूछा - "हमारे राज्य में आंख वाले अधिक हैं या अंधे, इनमें से किस की संख्या अधिक है?"
सभी दरबारी चिंतित थे। वह एक दूसरे से पूछने लगे, "दोनों में से कौन ज्यादा है यह कैसे बताएं?"

AnkhWaleAndhe_AkbarBirbalStories

कैसे ढूंढा बीरबल ने अंगूठी के चोर को? | अकबर-बीरबल

एक दिन भरे दरबार में राजा अकबर की अंगूठी खो गई। जैसे ही राजा को यह बात पता चली उन्होंने सिपाहियों से ढूँढने को कहा पर उन्हें उनकी अंगूठी नहीं मिली।

राजा अकबर नें बीरबल को दुखी मन से बताया कि वह अंगूठी उनके पिता की अमानत थी, जिससे वह बहुत ही प्यार करते थे। बीरबल नें जवाब में कहा - "आप चिंता ना करें महाराज, मैं अंगूठी ढून्ढ लूँगा।"

BestHindiStories_KWStoryTimes

बीरबल की खिचड़ी | अकबर-बीरबल

अकबर ने कडकड़ाती सर्दियों के मौसम में एक दिन यह ऐलान किया की अगर कोई व्यक्ति पूरी रात भर पानी के अंदर छाती तक डूब कर खड़ा रह पाएगा तो उसे 1000 मोहरों का इनाम दिया जाएगा। इस चुनौती को पार करना काफी कठिन था।

AkbarBirbal_KwStorytime

रेत और चीनी | अकबर-बीरबल

बादशाह अकबर के दरबार की कार्यवाही चल रही थे, तभी एक दरबारी हाथ में शीशे का एक मर्तबान लिए वहां आया।

बादशाह ने पूछा, “क्या है इस मर्तबान में?”

दरबारी बोला, “इसमें रेत और चीनी का मिश्रण है।”

AkbarBirbalStoriesInHindi

मोम का शेर | अकबर-बीरबल

पुराने समय में बादशाह एक दूसरे की बुद्धि की परीक्षा लिया करते थे। उस समय बादशाह अकबर और बीरबल के किस्से बहुत ही मशहूर थे। अक्सर लोग अकबर और बीरबल को चुनौतियां दिया करते थे और कई राज्य के राजा, अकबर और बीरबल की प्रशंसा से जलते भी थे।

KWStoryTime_AkbarBirbalHindiStories

एक पेड़ दो मालिक | अकबर-बीरबल

अकबर बादशाह दरबार लगा कर बैठे थे। तभी राघव और केशव नाम के दो व्यक्ति अपने घर के पास स्थित आम के पेड़ का मामला ले कर आए। दोनों व्यक्तियों का कहना था कि वे ही आम के पेड़ के असल मालिक हैं और दुसरा व्यक्ति झूठ बोल रहा है। चूँकि आम का पेड़ फलों से लदा होता है, इसलिए दोनों में से कोई उसपर से अपना दावा नहीं हटाना चाहता।

KWStoryTimes_AkbarBirbalStories

कुएँ के पानी का न्याय | अकबर-बीरबल

एक समय की बात है, बादशाह अकबर अपने दरबार में दरबारियों के साथ बैठे हुए थे। तभी दरबार में एक किसान और उसका पड़ोसी पहुंचे। किसान इंसाफ की गुहार लगा रहा था।
बादशाह अकबर ने किसान से पूछा कि आखिर क्या तकलीफ है, क्यों वहां इतना परेशान है।


अकबर के सपने का अर्थ | अकबर-बीरबल

एक बार बादशाह अकबर को सपना आया की उनके एक दाँत को छोड़ कर सभी दाँत टूट गये। अगली ही सुबह उन्होने राज्ये के सभी ज्योतिषियों को सपने का अर्थ जानने के लिए सभा मे बुला लिया।

सभी ज्योतिषियों को अकबर ने अपना सपना सुनाया और उनसे अपने सपने का मतलब पूछा। एक लंबे विचार विमर्श के बाद ज्योतिषियों ने बताया कि "बादशाह के सभी रिश्तेदार उनसे पहले मर जाएंगे।"

KWStoryTime_AkbarKeSapneKaEarth

तीन सवाल | अकबर-बीरबल

एक बार सभी दरबारी, बीरबल एवं राजा अकबर दरबार मे बैठे थे | सभी लोग दरबार के अलग-अलग पदो एवं मंत्री पदो के बारे मे विचार विमर्श कर रहे थे| उनमें से एक मंत्री, जो महामंत्री का पद पाना चाहता था। उसने मन ही मन एक योजना बनाई। उसे मालूम था, कि बीरबल उससे ज्यादा बुद्धिमान है, लेकिन फिर भी वह मुख्य सलाहकार का पद पाना चाहता था।

KWStoryTime_TeenSawaalAkbarBirbalStories

बीरबल और 100 कौड़े | अकबर-बीरबल

जब महेश दास बड़े हुए तब उन्होंने बादशाह अकबर के यहां काम करने की इच्छा अपनी मां से जाहिर की। उन्होंने मां से कहा कि बादशाह ने मुझे अंगूठी दी थी, मैं वहां अंगूठी लेकर उनसे मिलने जाऊंगा और अपने लिए नौकरी की बात करूंगा।
उन्होंने अपना सामान बांधा, अंगूठी ली, अपनी मां से आशीर्वाद लिया और बादशाह के राज्य के लिए रवाना हो गए।

KWStoryTime_BirbalAur100Kode

अकबर! महेश दास से कैसे मिले?? | अकबर-बीरबल

बादशाह अकबर शिकार के बहुत शौक़ीन थे। एक दिन वे अपने सिपाहियों के साथ शिकार पर निकले। शिकार करते-करते उन्हें पता ही नहीं चला कि कब वे अपने कुछ सिपाहियों के साथ वन में बहुत आगे निकल आये और रास्ता भटक गए। बाकी सिपाही पीछे कहीं छूट गए। शाम ढल चुकी थी। बादशाह और उनके साथ के सिपाहियों का भूख-प्यास के मारे बुरा हाल था।

KWStorytime_HowAkbarMetBirbal